13.9 C
Mathura
Thursday, February 29, 2024

नोएडा पुलिस ने बैंकों के फर्जी कागजात बनाकर उनसे फर्जी अकाउंट खोलकर करोड़ों रुपए का बैंकों को चूना लगाने वाले आठ अभियुक्तों को किया गिरफ्तार

नोएडा पुलिस द्वारा, फर्जी दस्तावेज बनाकर तथा फर्जी रूप से अलग-अलग व्यक्तियों की आईडी एवं प्राइवेट लिमिटेड कम्पनियाँ बनाकर बैंको में फर्जी खाता खोल लेते थे ।खाता खुलने के बाद धोखाधड़ी कर बैंको से लोन लेकर कई बैंको को लगभग 23 करोड़ रूपये की आर्थिक हानि पहुँचाने वाले 08 अभियुक्त को गिरफ्तार किया है।

इन गिरफ्तार अभियुक्तों से भारी मात्रा में फर्जी आईकार्ड, बैक चैक बुक, डेबिट कार्ड, मोबाइल फोन, एक नोट गिनने की मशीन, एक आईकार्ड बनाने की मशीन, कम्पनियों की मोहरें, लैपटॉप, नकदी, पैन ड्राईव, 03 कार व 02 मोटरसाइकिल वह अन्य सामान बरामद किए है जिसे नोएडा पुलिस ने जब्त करनेके साथ 8 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। 15 मई को थाना फेस-1 नोएडा पुलिस ने इलैक्ट्रोनिक सर्विलांस टीम, मैनुअल इंटेलीजेंस व गोपनीय सूचना के आधार पर फर्जी दस्तावेज बनाकर तथा फर्जी रूप से अलग-अलग व्यक्तियों की आईडी और प्राइवेट लिमिटेड कम्पनियाँ बनाकर धोखाधड़ी कर बैंको से लोन लेकर बैंको को लगभग 23 करोड़ रूपये की आर्थिक हानि पहुँचाने वाले 08 अभियुक्त 1.अनुराग चटकारा उर्फ अनुराग अरोडा 2.अमन शर्मा 3.दानिश छिब्बर 4.वसीम अहमंद 5.मोहसिन 6.जीतू उर्फ जितेन्द्र 7.रविकान्त मिश्रा व 8.तनुज शर्मा को जेवर टोल प्लाजा के पास से गिरफ्तार किया गया है। अभियुक्तों से पूछताछ करने पर उनके निशांदेही पर द अरानिया सोसायटी सेक्टर-119 नोएडा से चैक बुक, डेबिट कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड, जी.एच.सी.एल कम्पनी के आईडी कार्ड, मोबाइल फोन मय सिम, एक नोट गिनने की मशीन, एक आईकार्ड बनाने की मशीन, कम्पनियों की मोहरें, लैपटॉप, नकदी, पैन ड्राईव, 03 कार व 02 मोटरसाइकिल बरामद हुए है।

अभियुक्तों द्वारा विभिन्न फर्जी नामों से फर्जी आधार कार्ड बनवाकर इन्ही फर्जी नाम से पैन कार्ड बनाकर तथा आरओसी में कम्पनी रजिस्टर कराकर अलग-अलग बैंको मे खाते खुलवाते हैं, इस प्रकार खोले गये खातों मे फर्जी कम्पनी के खाते से सैलरी के रुप मे धन ट्रान्सफर करते हैं। उस पैसे को एटीएम से निकालकर कम्पनी के खाते मे जमा करा देते हैं। तब ये लोग आनलाइन लोन एप्लाई करके तथा कई अन्य फाईनेन्स कम्पनियों से कार, मोबाइल व अन्य वस्तुएं फाईनेन्स कराते हैं। लोन के रुपयों को एटीएम के माध्यम से निकालकर तथा फाईनेन्स की वस्तुओं को गबन करके ये लोग बैंक को वापस नही करते हैं क्योकि यह सब काम गलत नामों से किया जाता है, जिस कारण बैंक इनको पकड़ नही पाता था। ये लोग यह काम किराए के फ्लैट लेकर करते हैं, अभियुक्तों द्वारा जी.एच.सी.एल कम्पनी के नाम से मिलजी जुलती जी.एच.सी.एल नाम की फर्जी कम्पनी बनाकर फ्रॉड का काम सेक्टर-119 मे एक फ्लैट लेकर किया गया था। इन लोगों ने अभी तक एचडीएफसी सहित अन्य बैंको से लगभग 23 करोड़ रूपये लोन के रूप में लिये है और वापस नही किये। इस प्रकार अन्य बैंको को लगभग 23 करोड़ रूपये की हानि पहुँचायी है।

Latest Posts

बीएएमएस की परीक्षा में तलाशी अभियान में दो नकलची पकड़े गए

बीएएमएस की परीक्षा में तलाशी अभियान में दो नकलची पकड़े गए

संस्कृति विवि में हुई सेमिनार में वक्ताओं ने बताया वैदिक गणित का महत्व

संस्कृति विवि में हुई सेमिनार में वक्ताओं ने बताया वैदिक गणित का महत्व

सर्वोत्तम रोगी देखभाल प्रयोगशाला बिना असम्भवः डॉ. अवधेश मेहता

सर्वोत्तम रोगी देखभाल प्रयोगशाला बिना असम्भवः डॉ. अवधेश मेहता

जी.एल. बजाज के छात्र-छात्राओं को किया उद्यमिता की ओर प्रेरित

जी.एल. बजाज के छात्र-छात्राओं को किया उद्यमिता की ओर प्रेरित

रियल पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं को कुमकुम लगाकर बोर्ड परीक्षा के लिए भेजा गया

रियल पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं को कुमकुम लगाकर बोर्ड परीक्षा के लिए भेजा गया

Related Articles