24 C
Mathura
Tuesday, March 5, 2024

ग्रैंड पैरेंट्स डे पर दादा-दादी की आंखों में छलके खुशी के आंसू राजीव इंटरनेशनल स्कूल के छात्र-छात्राओं ने बांधा समां

ग्रैंड पैरेंट्स डे पर दादा-दादी की आंखों में छलके खुशी के आंसू
राजीव इंटरनेशनल स्कूल के छात्र-छात्राओं ने बांधा समां

राजीव इंटरनेशनल स्कूल में रविवार को ग्रैंड पैरेंट्स डे मनाया गया। इस अवसर पर छात्र-छात्राओं की मनमोहक प्रस्तुतियों पर दादा-दादी और नाना-नानी की आंखों में खुशी के आंसू दिखाई दिए। बच्चों ने अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से ऐसा समां बांधा कि दादा-दादी और नाना-नानी भी वाह-वाह करने से अपने आपको नहीं रोक सके। ग्रैंड पैरेंट्स डे का शुभारम्भ के.डी. डेंटल कॉलेज के डीन और प्राचार्य डॉ. मनेष लाहौरी, राजीव एकेडमी फॉर फार्मेसी के निदेशक प्रो. देवेंद्र पाठक एवं विद्यालय की शैक्षिक संयोजिका प्रिया मदान ने माँ शारदे के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया।
गणेश वंदना और अतिथियों के स्वागत पश्चात छात्र-छात्राओं ने एक से बढ़कर एक कार्यक्रम पेश किए। कार्यक्रम में अपने दादा-दादी और नाना-नानी को पाकर जहां बच्चों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा वहीं बच्चों के कला-कौशल का लुत्फ उठाते दादा-दादी, नाना-नानी भी तालियां बजाते और खुशी जताते देखे गए। समारोह में बच्चों की प्रस्तुतियों को देखकर वहां बैठे दादा-दादियों की आंखें खुशी से भर आईं। स्कूल प्रबंधन ने दादा-दादी और नाना-नानी को कार्यक्रम में बुलाकर जहां जनरेशन गैप को कम करने की कोशिश की वहीं उन्हें कुछ घंटों का अनोखा खुशनुमा पल भी दिया।
सीनियर सिटीजंस के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त करते हुए विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने नृत्य नाटिका की प्रस्तुति से सबको भाव-विभोर कर दिया। इसी तरह सीनियर सिटीजंस के मनोरंजन के लिए तंबोला, कार्ड, कैंडल्स आदि गेम्स का भी आयोजन किया गया, जिसमें सभी वरिष्ठ नागरिकों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। कार्यक्रम की थीम गोवा रखी गई थी। इसके अंतर्गत सीनियर सिटीजंस ने रैंप वॉक कर सबका मन मोह लिया। कार्यक्रम के अंत में विजेता सीनियर सिटीजंस को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर डॉ. मनेष लाहौरी ने उपस्थित सीनियर सिटीजन का नमन करते हुए कहा कि आपके द्वारा संस्कारित बच्चे ही भारत को विश्व गुरु बनाएंगे। उन्होंने कहा कि बच्चों की परवरिश में माता-पिता के साथ-साथ दादा-दादी की भूमिका भी बहुत महत्वपूर्ण होती है। बच्चों रूपी छोटे-छोटे पौधों को संस्कार रूपी जल से दादा-दादी ही सींचते हैं। निदेशक प्रो. देवेन्द्र पाठक ने संयुक्त परिवार के महत्व से अवगत कराते हुए कहा कि बच्चों को दादा-दादी, नाना-नानी के मार्गदर्शन की हमेशा जरूरत रहेगी। उन्होंने कहा कि शिक्षा के साथ बच्चों को संस्कार मिलना जरूरी हैं। बच्चों को जैसे संस्कार मिलेंगे वह वैसा ही आचरण और व्यवहार करेंगे।
आर.के. एज्यूकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल ने अपने संदेश में कहा कि वरिष्ठ नागरिक हमारी धरोहर हैं। उन्हें सम्मान देना हमारी जिम्मेदारी है। प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने कहा कि आज के व्यस्त समय में दादा-दादी ही बच्चों को सही संस्कार दे सकते हैं इसलिए बच्चों का उनके साथ समय बिताना बहुत आवश्यक है। शैक्षिक संयोजिका प्रिया मदान ने सभी को ग्रैंड पैरेंट्स डे की हार्दिक शुभकामनाएं दीं। कार्यक्रम का संचालन युविका, नित्या, लेशिया एवं नव्या ने किया।

ग्रैंड पैरेंट्स डे पर दादा-दादी की आंखों में छलके खुशी के आंसू राजीव इंटरनेशनल स्कूल के छात्र-छात्राओं ने बांधा समां

Latest Posts

तन-मन को तरोताजा रखने के लिए खेल जरूरीः जेल अधीक्षक

तन-मन को तरोताजा रखने के लिए खेल जरूरीः जेल अधीक्षक

संस्कृति विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पराक्रम दिवस के उपलक्ष्य में सेमिनार का हुआ आयोजन

संस्कृति विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पराक्रम दिवस के उपलक्ष्य में सेमिनार का हुआ आयोजन

बीएएमएस की परीक्षा में तलाशी अभियान में एक पकड़ा गया नकलची

बीएएमएस की परीक्षा में तलाशी अभियान में एक पकड़ा गया नकलची

संस्कृति विवि में वैदिक विज्ञान के महत्व के साथ मना राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

संस्कृति विवि में वैदिक विज्ञान के महत्व के साथ मना राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

मानवता को शर्मसार करती ममता सरकार- नायक

मानवता को शर्मसार करती ममता सरकार- नायक

Related Articles