24 C
Mathura
Tuesday, March 5, 2024

राजीव इंटरनेशनल स्कूल के मेधावी ध्रुव ने नीट में फहराया परचम

राजीव इंटरनेशनल स्कूल के मेधावी ध्रुव ने नीट में फहराया परचम

प्रतिभा उम्र की मोहताज नहीं होती, सच्चे मन और पूरी लगन से की गई मेहनत मंजिल तक जरूर ले जाती है। नीट में प्रथम प्रयास में ही सफलता हासिल कर इसे चरितार्थ किया है राजीव इंटरनेशनल स्कूल के पूर्व मेधावी छात्र ध्रुव छापड़िया ने। ध्रुव छापड़िया ने राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा (नीट) में 656/720 अंक हासिल कर डॉक्टर बनने की अपनी पहली उड़ान शानदार तरीके से पूरी कर ली है। ध्रुव ने ऑल इंडिया स्तर पर 5457 रैंक हासिल कर डॉक्टर बनने के अपने सपने की तरफ मजबूती से कदम बढ़ा दिए हैं।
नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की तरफ से आयोजित राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) का परीक्षा परिणाम ध्रुव छापड़िया के लिए खुशियों का पैगाम लेकर आया और उसने 720 में से 656 अंक हासिल किए। ध्रुव के नम्बर और रैंक को देखते हुए उसे शासकीय मेडिकल कॉलेज में प्रवेश मिलना तय है। अपने लाड़ले की उपलब्धि पर समूचे परिवार में खुशी का माहौल है।
ध्रुव की इस सफलता से उसके माता-पिता धीरज और प्रिया छापड़िया न केवल खुश हैं बल्कि कहते हैं कि उनके बेटे की नींव मजबूत करने में राजीव इंटरनेशनल स्कूल के शिक्षकों का बहुत बड़ा योगदान है। ध्रुव कक्षा एक से 10वीं तक राजीव इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ा तथा उसकी छोटी बहन धृतिका छापड़िया भी राजीव इंटरनेशनल स्कूल में नौवीं कक्षा में पढ़ रही है। धृतिका भी डॉक्टर बनना चाहती है।
ध्रुव के पिता और छटीकरा के पास संचालित छापड़िया आई सेण्टर के संचालक डॉ. धीरज छापड़िया का कहना है कि ध्रुव ने बचपन से ही डॉक्टर बनने का लक्ष्य निर्धारित कर लिया था। दरअसल, ध्रुव ने अपने चचेरे डॉक्टर भाई-बहनों से प्रेरित होने के बाद ही डॉक्टर बनने का निर्णय लिया। मां प्रिया छापड़िया का कहना है कि ध्रुव रात-दिन पढ़ाई करता था तथा खाली समय में उसे म्यूजिक सुनता है तथा बैडमिंटन खेलना पसंद है।
ध्रुव का कहना है कि मेरा यह पहला ही प्रयास था और मुझे पूरी उम्मीद थी कि मैं अच्छे अंक और बेहतर रैंक हासिल करूंगा। ध्रुव बताता है कि माता-पिता ने कभी भी मेरे ऊपर किसी चीज का दबाव नहीं डाला। हमेशा यही कहा जो इच्छा है, उसे पूरी लगन से करो। मुझे मम्मी-पापा की प्रेरणा तथा राजीव इंटरनेशनल स्कूल के शिक्षकों के मार्गदर्शन से ही यह सफलता मिली है। म्यूजिक और बैडमिंटन में दिलचस्पी रखने वाला ध्रुव एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद हृदयरोग विशेषज्ञ बनना चाहता है।
आर.के. एज्यूकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल, प्रशासनिक अधिकारी के.डी. डेंटल कॉलेज नीरज छापड़िया तथा राजीव इंटरनेशनल स्कूल के शिक्षकों ने ध्रुव को शानदार सफलता के लिए बधाई देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की है

राजीव इंटरनेशनल स्कूल के मेधावी ध्रुव ने नीट में फहराया परचम

Latest Posts

तन-मन को तरोताजा रखने के लिए खेल जरूरीः जेल अधीक्षक

तन-मन को तरोताजा रखने के लिए खेल जरूरीः जेल अधीक्षक

संस्कृति विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पराक्रम दिवस के उपलक्ष्य में सेमिनार का हुआ आयोजन

संस्कृति विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पराक्रम दिवस के उपलक्ष्य में सेमिनार का हुआ आयोजन

बीएएमएस की परीक्षा में तलाशी अभियान में एक पकड़ा गया नकलची

बीएएमएस की परीक्षा में तलाशी अभियान में एक पकड़ा गया नकलची

संस्कृति विवि में वैदिक विज्ञान के महत्व के साथ मना राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

संस्कृति विवि में वैदिक विज्ञान के महत्व के साथ मना राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

मानवता को शर्मसार करती ममता सरकार- नायक

मानवता को शर्मसार करती ममता सरकार- नायक

Related Articles