37.2 C
Mathura
Saturday, June 22, 2024

प्रशासन के रवैए से नाराज‌ सैकड़ों संतो ने धर्मनगरी के प्राचीन प्रमुख द्वार पर दिया धरना

प्रशासन के रवैए से नाराज‌ सैकड़ों संतो ने धर्मनगरी के प्राचीन प्रमुख द्वार पर दिया धरना

चित्रकूट में विरक्त संत मंडल के एक सैकड़ा साधू-संतों ने प्रशासन के रवैए से नाराज व लंबित चल रही प्रमुख 15 सूत्रीय मांगों को लेकर प्राचीन कामदगिरि पूर्वी प्रमुख द्वार पर धरना दिया। धरना की अध्यक्षता कर रहे सनकादिक आश्रम के महंत सनकादिक महाराज ने कहा कि शिवराज सिंह सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उनकी घोषणा के अभी तक कोई भी काम चित्रकूट में दिखाई नहीं दे रहे हैं चाहे वह जावरा बाईपास फोरलेन हो सीवर लाइन योजना या चित्रकूट स्मार्ट सिटी सब हवा-हवाई है।


उनकी प्रमुख मांगे थे कि प्राचीन कामदगिरि पूर्वी प्रमुख द्वार से ट्रस्ट खत्म किया जाए और पुनः संतो को सौंपा जाए। जिसमें प्रशासन दखलदाजी ना हो। अमावस्या के समय दूर-दूर से आने वाले तमाम वृद्ध 30 यात्रियों को देखते हुए परिक्रमा मार्ग से डेढ़ सौ मीटर की दूरी पर बड़ा पार्किंग स्टैंड का निर्माण हो। प्रशासन द्वारा स्फटिक शिला से भरत घाट तक मंदाकिनी के दोनों तरफ घाटों का निर्माण किया जाए साथ ही प्रशासन द्वारा किए जा रहे बाउंड्री वॉल निर्माण को रोका जाए इससे मंदाकिनी की सुंदरता खत्म होगी। कहां की परिक्रमा मार्ग में घूमने वाली गायों व जानवरों के लिए सुरभि गौशाला में प्रशासन द्वारा व्यवस्था की जाए। 8 साल से हो रहे सीवर निर्माण को शीघ्र पूरा कराया जाए।

चित्रकूट के प्रमुख चौराहों पर शंकराचार्य व ऋषियों की प्रतिमाएं लगाने की मांग की । कहां मोहकमगढ़ चौराहे पर हमारे संतो के शिरोमणि शंकराचार्य की प्रतिमा लगाई जाए। परिक्रमा मार्ग में सीसीटीवी कैमरे लगाएं जाए ताकि हो रही चोरी को रोका जा सके। प्रमुख द्वार के महंत मदन गोपाल दास महाराज ने कहा कि सावन का महीने में भीड़ के दबाव को देखते हुए पुलिस की व्यवस्था बढ़ाई जाए साथ ही नगर पंचायत द्वारा साफ सफाई कराई जाए। मंदिरों के सामने कैमरे लगाए जाएं ताकि चोरी जैसी घटनाएं आगे ना हो। संतो का का गुस्सा प्रशासन इस बात को लेकर था कि धर्म नगरी दो हिस्सों में बटी है। जहां उत्तर प्रदेश मैं सुबह के मुखिया योगी आदित्यनाथ का पूरा ध्यान धर्मवीर चित्रकूट के विकास में है जो देखने को मिल रहा है वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश का दूसरा हिस्सा विकास से अछूता है।

उन्होंने कहा कि जल्द ही हवाई अड्डा शुरू किया जाए ताकि दूर से आने वाले श्रद्धालु आसानी से चित्रकूट पहुंच सके तो वही चित्रकूट से अयोध्या, चित्रकूट से पुरी जगन्नाथ जैसी रेल सेवाएं प्रधानमंत्री से चालू करने की मांग की। ‌धरना की सूचना पर पहुंचे एसडीएम मझंगवा जितेंद्र वर्मा और एसडीओपी नयागांव आशीष जैन धरना स्थल पर पहुंचे ‌और संतोष से वार्ता की एसडीएम ने आश्वासन दिया कि उनकी 15 मांगों को क्रमवार विचार कर निस्तारण किया जाएगा। और हर सप्ताह निस्तारण की सूचनाओं से अवगत कराया जाएगा। तब संतो ने प्रशासन से मिली सहमत के आधार पर अपना धरना प्रदर्शन खत्म किया एसडीएम ने माला पहनाकर संतो के धरना‌ को समाप्त कराया।
इस दौरान संतों ने कहा कि 1 माह का आश्वासन के बाद अगर निस्तारण नहीं होता है। तो फिर हम धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगे।

प्रशासन के रवैए से नाराज‌ सैकड़ों संतो ने धर्मनगरी के प्राचीन प्रमुख द्वार पर दिया धरना

Latest Posts

औरैया के गांव की छोरी शिवानी कुमारी बिग बॉस में बिखेरेगी अपना जलवा

औरैया के गांव की छोरी शिवानी कुमारी बिग बॉस में बिखेरेगी अपना जलवा

बरखेड़ा नगर पालिका अध्यक्ष ने योग दिवस मनाया

बरखेड़ा नगर पालिका अध्यक्ष ने योग दिवस मनाया

धनोधया ऑडिटोरियम में विजयेता को पुरस्कार देकर किया गया सम्मानित

धनोधया ऑडिटोरियम में विजयेता को पुरस्कार देकर किया गया सम्मानित

संस्कृति विवि में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

संस्कृति विवि में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

आत्मा से परमात्मा का मिलन है योगः योगाचार्य देशराज आर्य

आत्मा से परमात्मा का मिलन है योगः योगाचार्य देशराज आर्य

Related Articles