24 C
Mathura
Tuesday, March 5, 2024

सोनोग्राफी मशीन की सुविधा तो मिली लेकिन फिलहाल लाभ नहीं विधायक के वायदे को पलीता लगा रहे डाक्टर

अस्पताल को भले ही सोनोग्राफी मशीन की सुविधा मिल गई हो लेकिन क्षेत्र की जनता को लाभ फिलहाल नहीं मिल पा रहा है। बड़ामलहरा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को सिविल अस्पताल में उन्नयन करने के बाद 50 बिस्तर के अस्पताल भवन का निर्माण कार्य द्रुत गति से चल रहा है।जिसके लिए क्षेत्रीय विधायक की पहल पर अल्ट्रासाउंड सोनोग्राफी मशीन भी उपलब्ध करा दी गई है। मगर जिस उद्देश्य को लेकर सोनोग्राफी मशीन उपलब्ध कराई गई है वह उद्देश्य पूरा नहीं हो पा रहा है। उसकी खास वजह एक तो सोनोलॉजिस्ट/रेडियोग्राफर उक्त मशीन को ऑपरेट करने के लिए नहीं मिला है। दूसरा यह है कि यहां पदस्थ गायनेकोलॉजिस्ट डा.सुरेखा खरे सोनोग्राफी मशीन अच्छी तरह से ऑपरेट तो कर लेती हैं लेकिन वे मुख्यालय पर आती ही नहीं है। भले ही नियमानुसार डॉ.सुरेखा खरे को सोनोग्राफी मशीन ऑपरेट करने की शासन ने मान्यता नहीं हो लेकिन दक्ष होने के कारण यदि वे प्रतिदिन अस्पताल की ओपीडी में मरीज देखें तो गर्भवती महिलाओं को इसका लाभ अवश्य मिल सकता है।

उदघाटन में विधायक ने महिलाओं को लाभ दिलाने किया था वादा

गौरतलब है,कि पिछले दिनों अल्ट्रासाउंड सोनोग्राफी मशीन के लोकार्पण समारोह के मौके पर क्षेत्रीय विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने महिला एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेखा खरे के माध्यम से प्रतिदिन गर्भवती महिलाओं को इस सुविधा का लाभ दिलाने का वादा किया था। जिस आत्मविश्वास और बेहद संजीदगी से क्षेत्रीय विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से उन्नयन हुये सिविल अस्पताल को सोनोग्राफी मशीन की सुविधा उपलब्ध कराई है उसके ठीक विपरीत यहां पदस्थ चिकित्सक न सिर्फ गरीब मरीजों के हकों को दरकिनार कर रहे हैं बल्कि क्षेत्रीय विधायक के वादे और सुविधा को पलीता लगाने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रख रहे हैं।

सिर्फ एक दिन मिला सुविधा का लाभ

 गौरतलब तो यह भी है कि जिस दिन अल्ट्रासाउंड सोनोग्राफी मशीन का लोकार्पण समारोह हुआ केवल उसी दिन चिन्हित गर्भवती महिलाओं को इस मशीन का लाभ मिल पाया। डा.सुरेखा खरे ने गर्भवती महिलाओं की सोनोग्राफी मशीन से जांच की थी यहां सवाल उठना लाजिमी है कि जब एक दिन डा. सुरेखा खरे सोनोग्राफी आपरेट कर महिलाओं की जांच सकतीं है तो यह नियम रोजाना लागू क्यों नहीं।

“इस संबंध में मुझे आपके द्वारा ही इस तरह की जानकारी दी गई है वैसे इस संबंध में पीएमओ को अवगत कराना चाहिए था जो उन्होंने नहीं कराया। इस बात को मैं गंभीरता से लेकर क्षेत्र की बहनों के लिए इस सुविधा का लाभ दिलाने का प्रयास करूंगा”

Latest Posts

तन-मन को तरोताजा रखने के लिए खेल जरूरीः जेल अधीक्षक

तन-मन को तरोताजा रखने के लिए खेल जरूरीः जेल अधीक्षक

संस्कृति विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पराक्रम दिवस के उपलक्ष्य में सेमिनार का हुआ आयोजन

संस्कृति विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पराक्रम दिवस के उपलक्ष्य में सेमिनार का हुआ आयोजन

बीएएमएस की परीक्षा में तलाशी अभियान में एक पकड़ा गया नकलची

बीएएमएस की परीक्षा में तलाशी अभियान में एक पकड़ा गया नकलची

संस्कृति विवि में वैदिक विज्ञान के महत्व के साथ मना राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

संस्कृति विवि में वैदिक विज्ञान के महत्व के साथ मना राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

मानवता को शर्मसार करती ममता सरकार- नायक

मानवता को शर्मसार करती ममता सरकार- नायक

Related Articles