40.4 C
Mathura
Thursday, April 25, 2024

तन-मन को तरोताजा रखने के लिए खेल जरूरीः जेल अधीक्षक

तन-मन को तरोताजा रखने के लिए खेल जरूरीः जेल अधीक्षक

मथुरा। अच्छे भविष्य और बेहतर करियर के लिए जितना पढ़ाई का महत्व है, उतना ही महत्व बेहतर जीवन के लिए खेलों का भी है। शरीर के उचित विकास और फिजिकल फिटनेस के लिए खेलों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जो विद्यार्थी नियमित रूप से किसी न किसी खेल में हिस्सा लेते हैं वह अन्य लोगों की अपेक्षा अधिक स्वस्थ और तरोताजा रहते हैं लिहाजा भावी चिकित्सक न केवल स्वयं स्वस्थ रहें बल्कि समाज को भी स्वस्थ रहने का संदेश दें। उक्त सारगर्भित उद्गार सोमवार को के.डी. डेंटल कॉलेज एण्ड हॉस्पिटल में स्पर्धा-2024 के शुभारम्भ अवसर पर मुख्य अतिथि जेल अधीक्षक मथुरा बृजेश कुमार ने छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। स्पर्धा का शुभारम्भ मार्चपास्ट के बाद राष्ट्रगान उसके बाद गुब्बारे उड़ाकर किया गया।
लगभग एक पखवाड़े तक चलने वाले स्पर्धा-2024 के शुभारम्भ अवसर पर प्राचार्य और डीन डॉ. मनेष लाहौरी तथा महाप्रबंधक अरुण अग्रवाल ने मुख्य अतिथि जेल अधीक्षक मथुरा बृजेश कुमार व विशिष्ट अतिथि डॉ. शैलेंद्र प्रताप सिंह जिला कमाण्डेंट होमगार्ड मथुरा का पुष्पगुच्छ भेंटकर स्वागत किया। अपने उद्बोधन में जेल अधीक्षक बृजेश कुमार ने कहा कि शरीर के विकास के लिए सिर्फ पोषक पदार्थों से युक्त भोजन की ही जरूरत नहीं होती बल्कि अच्छी सेहत और बेहतर मानसिक विकास के लिए खेल जरूरी हैं। अब खेल समय की बर्बादी नहीं बेहतर करियर का माध्यम भी हैं।
विशिष्ट अतिथि डॉ. शैलेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि स्वस्थ शरीर और दिमाग को विकसित करने के लिए खेल महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। खेलों से जहां हमारा शरीर सुगठित होता है वहीं मन भी तरोताजा रहता है लिहाजा है प्रत्येक छात्र-छात्रा को प्रतिदिन कुछ समय खेलों को अवश्य देना चाहिए। श्री सिंह ने छात्र-छात्राओं से फास्टफूड से दूर रहते हुए प्रकृति से जुड़ने का आह्वान किया। आर.के. एज्यूकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल और प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने अपने संदेश में छात्र-छात्राओं से खेलभावना के साथ खेलने का आह्वान किया।
इस अवसर पर प्राचार्य और डीन डॉ. मनेष लाहौरी ने कहा कि स्वस्थ शरीर हमारे दैनिक कार्यों को पूरा करने में मदद करता है। स्वस्थ रहने का अर्थ रोगरहित तन का होना ही नहीं बल्कि तनावमुक्त मन का होना भी है। शरीर और मन दोनों की स्वस्थता जीवन में सफलता के साथ आनंदमय जीवन जीने का सूत्र है। डॉ. लाहौरी ने कहा कि आज हर व्यक्ति स्वस्थ रहना चाहता है, समाज में खेल संस्कृति के प्रति चेतना आई है। लोग खेलों के महत्व को स्वीकारने लगे हैं। खेलकूद न केवल छात्र-छात्राओं का मनोरंजन करते हैं अपितु उनके स्वास्थ्य को भी उत्तम बनाते हैं। उन्होंने छात्र-छात्राओं से खेलभावना के साथ विभिन्न प्रतियोगिताओं में शिरकत करने का आह्वान किया। इस अवसर पर कॉलेज की स्पोर्ट्स पत्रिका का विमोचन भी किया गया।
स्पोर्ट्स आफीसर डॉ. सोनू शर्मा ने स्पर्धा की जानकारी देते हुए कहा कि छात्र-छात्राओं को छह ग्रुपों में बांटा गया है तथा छात्र वर्ग की कप्तानी सौरभ बंसल तथा छात्रा वर्ग की कप्तानी आयुषी यादव को सौंपी गई है। प्रतियोगिता के व्यवस्थित संचालन की जवाबदेही स्पोर्ट्स आफीसर लोकेश शर्मा, लक्ष्मीकांत चौधरी, निशांत शर्मा आदि को सौंपी गई है। स्पर्धा-2024 में क्रिकेट, शतरंज, बास्केटबाल, वॉलीबाल, फुटबाल, कबड्डी, रस्साकशी, बैडमिंटन, कैरम, पंजा-कुश्ती, थ्रोबाल, एथलेटिक्स आदि प्रतिस्पर्धाएं होंगी। स्पर्धा का आगाज शतरंज और रस्साकशी प्रतियोगिता से हुआ। स्पर्धा-2024 के शुभारम्भ अवसर पर सभी संकाय सदस्य, चिकित्सक, प्रशासनिक अधिकारी नीरज छापड़िया तथा बड़ी संख्या में खिलाड़ी छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन कृति बरसौल तथा मित्रा जे. सिंह ने किया।

Latest Posts

संस्कृति विवि के प्रोफेसर ग्रीस दूतावास द्वारा हुए सम्मानित

संस्कृति विवि के प्रोफेसर ग्रीस दूतावास द्वारा हुए सम्मानित

जीएल बजाज इंस्टीट्यूट ने 2021-23 के पीजीडीएम बैच के लिए एक महत्वपूर्ण दीक्षांत समारोह का किया आयोजन

जीएल बजाज इंस्टीट्यूट ने 2021-23 के पीजीडीएम बैच के लिए एक महत्वपूर्ण दीक्षांत समारोह का किया आयोजन

मोनाली ठाकुर के गीतों पर देर रात तक नाचे संस्कृतियन

मोनाली ठाकुर के गीतों पर देर रात तक नाचे संस्कृतियन

तेज प्रताप यादव कन्नौज लोकसभा सीट से सपा प्रत्याशी घोषित

तेज प्रताप यादव कन्नौज लोकसभा सीट से सपा प्रत्याशी घोषित

संस्कृति विवि में ईशा देओल ने लगाए ठुमके, आह्ना ने बताया मतदान जरूरी

संस्कृति विवि में ईशा देओल ने लगाए ठुमके, आह्ना ने बताया मतदान जरूरी

Related Articles