25.7 C
Mathura
Friday, February 23, 2024

श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल के तथाकथित चुनाव पर लगाया प्रश्न चिन्ह !

श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल के तथाकथित चुनाव पर लगाया प्रश्न चिन्ह !

गौरतलब है कि श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल द्वारा कोई तथाकथित चुनाव बीएसए प्रबंध समिति एवं बीएसए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी की प्रबंध समिति के लिए कराया गया है । इस संबंध में अग्रवाल शिक्षा मंडल के मंत्री देवेंद्र गर्ग जी ने चुनाव पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए विस्तार पूर्वक बताया कि बीएसए कॉलेज के अभिलेखों के अनुसार बीएसए कॉलेज की मात्र संस्था अग्रवाल शिक्षा मंडल है एवं बीएसए कॉलेज प्रबंध समिति के एक्ट के अनुसार बीएसए कॉलेज प्रबंध समिति में सभी सदस्य , अध्यक्ष एवं सचिव अग्रवाल शिक्षा मंडल द्वारा ही चुनकर भेजे जाने का प्रावधान है , जबकि यह तथाकथित चुनाव श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल द्वारा कराए गए हैं । अग्रवाल शिक्षा मंडल एवं श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल दो अलग अलग संस्था है । ऐसा प्रतीत होता है कि आम जन को भ्रमित करने हेतु समाचार पत्रों के माध्यम से इसे अग्रवाल शिक्षा मंडल का चुनाव दिखाया गया है जबकि ये वास्तव में श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल का चुनाव है । कॉलेज अभिलेखों से यह भी स्पष्ट है कि बीएसए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, बीएसए कॉलेज मथुरा द्वारा ही स्थापित एक मात्र एक तकनीकी संकाय है जिसका पूर्ण स्वामित्व अग्रवाल शिक्षा मंडल एवं बीएसए कॉलेज मथुरा के पास है l अभिलेखों से यह भी स्पष्ट है कि बीएसए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी की स्थापना का प्रस्ताव तत्कालीन बीएसए कॉलेज प्राचार्य डॉ एस पी गुप्ता द्वारा ही आगरा विश्वविद्यालय , एआईसीटीई एवं शासन को पत्र भेजा था । साथ ही बीएसए कॉलेज द्वारा ही उसकी 32 एकड़ जगह मे से लगभग 11 एकड़ जगह बीएसए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी को कॉलेज की तकनीकी संकाय खोलने हेतु प्रदान की गई थी l कॉलेज अभिलेखों के अनुसार यह भी स्पष्ट है कि बीएसए कॉलेज मथुरा ने ही अपने फंड से 50 लाख रुपये की एफडी बीएसए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी खोलने हेतु सुरक्षा राशि जमा करने के लिए एआईसीटीई में जमा की थी l यहाँ तक कि बीएसए कॉलेज के फंड से ही बीएसए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी की स्थापना बीएसए कॉलेज मथुरा द्वारा की गयी , परंतु अचानक ये श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल कहाँ से और कैसे आ गया , हम इसकी जाँच करा रहे हैं , जो प्रथमदृष्टा पूर्णरूप से फ़र्ज़ी एवं कूटरचित प्रतीत होता है l जानकारी में यह भी आया है कि इस तरह का प्रयास श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल द्वारा अन्य शिक्षण संस्थाओं में भी पहले किया गया था , जहाँ अब या तो कंट्रोलर बैठ गए या उनके खाते एकल संचालन के लिए शासन द्वारा स्वीकृत कर दिए गए है । कॉलेज अभिलेखों के अनुसार इन चंद लोगों द्वारा छात्रों से फ़ीस एकत्रित कर करोड़ों रुपये का ग़बन भी किया है , जिसकी जाँच जिलाधिकारी महोदय मथुरा एवं रजिस्ट्रार चिटफंड सोसाइटी आगरा एवं शासन द्वारा भी कराई गई जिसमें ये दोषी भी पाए गए। वर्तमान में अग्रवाल शिक्षा मंडल एवं श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल की इन संस्थाओं के स्वामित्व को लेकर कई मामले लंबित हैं , परन्तु फिर भी अवैध रूप से वह उन शिक्षण संस्थानों का चुनाव कराकर जिनके यह स्वामी है ही नहीं , आम जन को समाचार पत्रों के माध्यम से भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं l अग्रवाल शिक्षा मंडल के वर्तमान अध्यक्ष अनिल गर्ग जी एवं मंत्री देवेंद्र गर्ग जी हैं तथा बीएसए कॉलेज मथुरा की प्रबंध समिति के वर्तमान अध्यक्ष महेश बंसल जी एवं मंत्री अनुज गर्ग जी है। बीएसए कॉलेज के प्राचार्य से जब इस चुनाव के संबंध में वार्ता की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल को बीएसए कॉलेज का चुनाव कराने का कोई अधिकार प्राप्त नहीं है।

श्री अग्रवाल शिक्षा मंडल के तथाकथित चुनाव पर लगाया प्रश्न चिन्ह !

Latest Posts

जी.एल. बजाज के छात्र-छात्राओं को किया उद्यमिता की ओर प्रेरित

जी.एल. बजाज के छात्र-छात्राओं को किया उद्यमिता की ओर प्रेरित

रियल पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं को कुमकुम लगाकर बोर्ड परीक्षा के लिए भेजा गया

रियल पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं को कुमकुम लगाकर बोर्ड परीक्षा के लिए भेजा गया

संस्कृति विवि में ब्रज के साहित्य और कला पर हुआ गहन मंथन

संस्कृति विवि में ब्रज के साहित्य और कला पर हुआ गहन मंथन

ब्रज साहित्योत्सव में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने की ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ की बात

ब्रज साहित्योत्सव में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने की ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ की बात

रियल पब्लिक स्कूल ने मनाया विदाई समारोह

रियल पब्लिक स्कूल ने मनाया विदाई समारोह

Related Articles